ALL विज्ञान स्वास्थ्य स्वाद समाचार ज्ञानवर्धक जानकारी जनहित abhivyakti
तीन जोन में बांटे जिलेः जानिये कौन सा जिला किस जोन में 
April 16, 2020 • SANJEEV SHARMA

संजीव शर्मा, हरिद्वारः केंद्र सरकार की गाइडलाइन मिलने के बाद प्रदेश में स्वास्थ्य विभाग ने प्रदेश को तीन जोन में विभक्त कर दिया है। ये जोन रेड (लाल), ऑरेंज (नारंगी) और ग्रीन (हरा) रखे गए हैं।

रेड जोन में वे जिले शामिल किए गए हैं, जिनमें 18 या इससे अधिक कोरोना पॉजिटिव मामले सामने आए हैं। ऑरेंज जोन में उन जिलों को रखा गया, जहां एक से 17 तक कोरोना पॉजिटिव मामले मिले हैं, जहां कोई कोरोना पॉजिटिव मामला सामने नहीं आया है, उन जिलों को ग्रीन जोन में रखा गया है।

जोन के हिसाब से ही जिलों को केंद्र की गाइडलाइन के अनुसार 20 अप्रैल के बाद लॉकडाउन में रियायत दी जाएगी। देहरादून जिले को रेड जोन में रखा गया है, इसलिए यहां तीन मई तक लॉकडाउन में कोई छूट नहीं दी जाएगी। इसका अर्थ यह है कि 20 अप्रैल के बाद भी यहां लॉकडाउन की व्यवस्था पूर्ववत ही जारी रहेगी।

अगर लगातार 14 दिन तक किसी जिले में कोई कोरोना पॉजिटिव मामला सामने नहीं आता है तो उस जिले की श्रेणी स्वत: ही परिवर्तित हो जाएगी। यानी, अगर देहरादून जिले में लगातार 14 दिन कोई कोरोना पॉजिटिव मामला नहीं सामने आया तो यह ऑरेंज जोन में चला जाएगा। इसके उलट अगर ग्रीन जोन के किसी जिले में कोई कोरोना पॉजिटिव मामला सामने आता है तो वह जिला ऑरेंज जोन में चला जाएगा। ऑरेंज जोन के जिले में कोरोना पाजिटिव मरीजों का आंकड़ा 18 तक पहुंचने पर वह जिला रेड जोन में शामिल हो जाएगा।

रेड जोन: देहरादून, लॉकडाउन के दौरान कोई रियायत नहीं।

ऑरेंज जोन: हरिद्वार, ऊधमसिंह नगर, नैनीताल, पौड़ी और अल्मोड़ा। 20 अप्रैल के बाद लॉकडाउन में आंशिक छूट।

ग्रीन जोन:  बागेश्वर, चमोली, चंपावत, पिथौरागढ़, रुद्रप्रयाग, टिहरी और उत्तरकाशी। इन जिलों में 20 अप्रैल के बाद लॉकडाउन में सबसे अधिक छूट मिलेगी। यहां औद्योगिक गतिविधियों के साथ ही अन्य मामलों में भी छूट दी जा सकती है।