ALL विज्ञान स्वास्थ्य स्वाद समाचार ज्ञानवर्धक जानकारी जनहित abhivyakti
रिश्वत लेने के मामले में लेखपाल के खिलाफ मुकदमा दर्ज
August 18, 2020 • Dr. SANDEEP BHARDWAJ

हरिद्वारः जांच रिपोर्ट लगाने के नाम पर किसान से पच्चीस हजार की रिश्वत लेने के मामले में छह महीने बाद शासन के आदेश पर विजिलेंस ने लेखपाल के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। साथ ही किसान का मोबाइल फॉरेंसिक जांच के लिए भी भेज दिया गया है।

लक्सर तहसील क्षेत्र के भीकमपुर गांव निवासी मोहित शर्मा ने कई महीने पहले गांव में ही कुछ जमीन खरीदी थी। जमीन के स्वामित्व को लेकर कुछ लोगों से विवाद था। इस मामले में जनवरी 2020 में शिकायत पर एसडीएम ने तत्कालीन हल्का लेखपाल से जांच कर रिपोर्ट मांगी थी।

आरोप है कि लेखपाल ने मोहित से ₹25 हजार की रिश्वत लेकर भी उनके खिलाफ रिपोर्ट लगा दी। मोहित ने लेखपाल का रिश्वत लेते समय बनाए गए वीडियो और ऑडियो के साथ साथ फरवरी 2020 को डीएम से शिकायत की थी। डीएम के आदेश पर एडीएम ने मामले की जांच की थी। लेकिन कोई कार्रवाई नहीं होने पर मोहित ने शासन में भी शिकायत दर्ज कराई थी।

इस दौरान लेखपाल के रिश्वत लेने के वीडियो और ऑडियो को भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे थे। वायरल वीडियो के आधार पर 6 महीने के बाद अपर मुख्य सचिव राधा रतूड़ी ने विजिलेंस अधिष्ठान के  निदेशक को मुकदमा दर्ज कर जांच के आदेश दिए हैं। जिसके बाद विजिलेंस ने आरोपी लेखपाल महिपाल सिंह चौहान के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम वर्ष 1988 के तहत मुकदमा दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।

एसडीएम पूर्ण सिंह राणा ने इसकी पुष्टि की है। वही शिकायतकर्ता मोहित शर्मा ने बताया कि विजिलेंस ने उनका मोबाइल फॉरेंसिक जांच के लिए भेज दिया है। लेखपाल फिलहाल हरिद्वार तहसील में अटैच है।