ALL विज्ञान स्वास्थ्य स्वाद समाचार ज्ञानवर्धक जानकारी जनहित abhivyakti
पंचपुरी में मर्यादित दृश्यों के मंचन के रूप में रामचरितमानस के पाठ का आयोजन  
October 19, 2020 • Dr. SANDEEP BHARDWAJ

हरिद्वार: पश्चिमी उत्तर प्रदेश एवं उत्तराखंड में बड़ी राम लीला के नाम से विख्यात तथा पंचपुरी में मर्यादित दृश्यों के मंचन के रूप में अलग पहचान बनाने वाली रामलीला की आयोजक रामलीला कमेटी रजि,  इस वर्ष अपने 95वे  वार्षिक उत्सव पर दृश्यों  का मंचन न कर केवल रामचरितमानस के पाठ का आयोजन कर रही है। जिसमें प्रत्येक दिन राम दरबार में स्थापित व्यास पीठ की आरती उतारकर विश्व कल्याण की कामना की जाती है।

व्यासपीठ की आरती उतारकर कोरोनावायरस समाप्ति की कामना करते हुए रामलीला कमेटी के महामंत्री रविकांत अग्रवाल ने कहा कि दैवीय शक्तियों के सानिध्य में ही सृष्टि का कल्याण होता है और धार्मिक आयोजनों का हेतु संपूर्ण समाज में समरसता का भाव भरना होता है। इसी उद्देश्य की प्राप्ति के लिए रामचरितमानस के नियमित पाठ का आयोजन किया जा रहा है।

उपाध्यक्ष सुनील भसीन एवं राकेश गोयल ने कहा कि रामलीला कमेटी धर्म की रक्षा तथा सामाजिक मर्यादाओं के संरक्षण के प्रति सदैव समर्पित भावना से कार्य करती है और आगामी वर्ष से विधिवत मंचन का कार्य नई साज-सज्जा के साथ आयोजित किया जाएगा। व्यासपीठ की आरती उतारकर स्वस्थ ,समृद्ध एवं संस्कारित  समाज की कामना करने वालों में प्रमुख थे। सुनील भसीन, रविकांत अग्रवाल ,महाराज कृष्ण सेठ, भगवत शर्मा मुन्ना, राकेश गोयल ,विनय सिंघल तथा रमन शर्मा आदि शामिल रहे।