ALL विज्ञान स्वास्थ्य स्वाद समाचार ज्ञानवर्धक जानकारी जनहित abhivyakti
पं. बालकृष्ण शास्त्रीः व्यक्तिगत रूप से मनायें भगवान परशुराम जन्मोत्सव
April 20, 2020 • SANJEEV SHARMA

संजीव शर्मा, हरिद्वारः  कोरोना वायरस के कारण विश्व की विकट परिस्थितियों को देखते हुये तथा सरकार के निर्देशों का अनुपालन करते हुये अखिल भारतीय ब्राह्मण एकता परिषद् उत्तराखण्ड के वरिष्ठ पदाधिकारियाें ने आपस में विचार  विमर्श करने के बाद श्री भगवान परशुराम जन्मोत्सव अक्षय तृतीया के अवसर पर 25 अप्रैल को होने वाली शोभायात्रा एवं अन्य सामूहिक कार्यक्रमों को स्थगित करने का निर्णय लिया है।

परिषद के प्रदेश संयोजक पं. बालकृष्ण शास्त्री ने सभी कार्यकर्ताओं एवं धर्मालम्बियों से निवेदन किया है कि अपने अपने घरों में व्यक्तिगत रूप से (सोशल डिस्टेन्सिंग) का ध्यान रखते हुये परशुराम जी की प्रतिमा या चित्र पर दीपार्चन, पुष्प व माल्यार्पण करें।

श्री हरि के षष्टम अवतार चिरंजीवी भगवान श्री परशुराम जी ने आतताइयों व आक्रांताओं से समाज की रक्षा की थी। वे कोरोना महामारी से भी हम सबको मुक्ति दिलवायेंगे। हवन पूजन करते रहें ताकि शीघ्रातिशीघ्र इस महामारी से भारत मुक्ति प्राप्त करे।
प्रदेश अध्यक्ष पं. मनोज गौतम ने परिषद के सदस्यों से अपील करते हुए कहा कि भगवान श्री परशुराम जी के जन्मोत्सव पर लॉकडाउन का पालन करते हुए सभी सनातन प्रेमी परिवार अपने-अपने घरों पर ही सूक्ष्म पूजन करें किसी प्रकार का सामूहिक उत्सव न मनायें। उन्होंने कहा कि एक-तीन या पांच दीपकों के साथ उत्तर दिशा की ओर मुख करके भगवान परशुराम जी का तीन बार जयघोष कर आरती करें और गुड़, चीनी, बतासे, हलवा आदि का भोग लगाकर प्रसाद ग्रहण करें।

इस संकटकाल में हरिद्वार ही नहीं पूरे भारत के सभी ब्राह्मण संगठनों ने भगवान परशुराम जन्मोत्सव को प्रतीकात्मक एवं सांकेतिक रूप से ही मनाने का निर्णय एवं आह्वान किया है।