ALL विज्ञान स्वास्थ्य स्वाद समाचार ज्ञानवर्धक जानकारी जनहित abhivyakti
ओम ग्रुप ऑफ कॉलेज निभा रहा सामाजिक जिम्मेदारी
July 3, 2020 • SANJEEV SHARMA

नवल टाइम्स,हरिद्वारः  कोरोना के चलते आर्थिक तंगी से जूझ रहे छात्रों और उनके परिजनों को राहत देने के लिए हरिद्वार स्थित ओम ग्रुप ऑफ कॉलेज रुड़की प्रबंधन ने विभिन्न संस्थाओं में संघ कार्यों में पढ़ रहे छात्रों और नए प्रवेश पाने वाले विद्यार्थियों को एक एक बड़ी राहत देते हुए सालाना फीस एकमुश्त जमा करने के बजाए आसान 6 किस्तों में जमा करने की सुविधा दी है।

इसके लिए प्रबंधन ने एनबीएफसी से भी करार किया है, यही नहीं करार के तहत छात्रों से ली जाने वाली छात्रों से किस्तों में ली जाने वाली फीस में किसी भी प्रकार का कोई ब्याज नहीं लिया जाएगा।

ओम ग्रुप की मैनेजिंग डायरेक्टर डॉ राखी सिंह ने बताया कि कोरोना संक्रमण के बाद उपजे हालात के चलते विद्यार्थी और उनके अभिभावक काफी दबाव में है खास तौर पर आर्थिक स्थिति को लेकर,  ओम ग्रुप ऑफ कॉलेज नें अपनी सामाजिक जिम्मेदारी को निभाने की परंपरा को समझते हुए छात्रों और अभिभावकों को सालाना फीस एकमुश्त जमा करने से राहत देने का फैसला किया है। 

उन्होंने बताया कि एनबीएफसी से यह भी निवेदन किया गया है कि छात्रों को बिना किसी ब्याज के अपनी  अपनी फीस जमा कराने के लिए धनराशि उपलब्ध कराएं जिस पर एनबीएफसी ने भी इस दशा में किस दिशा में सकारात्मक संकेत है दिए हैं।

वही ओम ग्रुप ऑफ कॉलेज के चेयरमैन मुनीष कुमार सैनी ने बताया कि प्रबंधन हमेशा से ही अपनी सामाजिक जिम्मेदारी निभाता आ रहा है और समय-समय पर छात्रों की हर संभव मदद भी की जाती रही है।  अब कोरोना के चलते जो हालात बने हैं उन सभी चुनौतियों से कॉलेज प्रबंधन मिलकर उभारने के प्रयास कर रहा है।  इसी क्रम में सालाना फीस एक साथ ना लेकर छः आसान किस्तों में लेने का फैसला किया गया है , इससे कॉलेज के विभिन्न संख्याओं में पढ़ रहे छात्र-छात्राओं और उनके अभिभावकों को आर्थिक दबाव से राहत मिलेगी और नए विद्यार्थियों को भी समस्याओं का सामना नहीं करना पड़ेगा ।

इसके लिए उन्होंने कॉलेज की एमडी डॉ राखी सिंह और उनकी टीम को बधाई भी दी उन्होंने कहा कि आगे भी कॉलेज समाज और अपने विद्यार्थियों के प्रति अपनी जिम्मेदारी को निभाता रहेगा और छात्रों का भविष्य उज्जवल बनाने में अपना सकारात्मक सहयोग देता रहेगा। इस अवसर पर कॉलेज की ओर से डॉ एसके भारद्वाज, डॉ एसके पाठक, विकास सैनी आदि उपस्थित रहे।