ALL विज्ञान स्वास्थ्य स्वाद समाचार ज्ञानवर्धक जानकारी जनहित abhivyakti
ममता दीदी की अनुमति के इंतजार में, हरिद्वार में करीब 700 बंगाली यात्री परेशान
May 6, 2020 • SANJEEV SHARMA

अपने शहर,प्रदेश,देश,विदेश के कोरोना सम्बन्धित समस्त समाचारों की अपडेट जानने के लिये  दिये गये लिंक पर जायें http://www.covid19point.info   

हाथ जोड़कर ममता दीदी से घर वापसी कराने की गुहार लगाते बंगाली यात्री

संजीव शर्मा, हरिद्वारः लॉक डाउन में जहां उत्तराखंड राज्य में फंसे अन्य कई राज्यो के यात्रियों के लिए उनके घर वापस जाने की व्यवस्था उन्ही की राज्य सरकार द्वारा की जा रही है और यात्रियों की उत्तराखंड सरकार के सहयोग से गृह वापसी कराई जा रही है तो वही हरिद्वार में करीब 700 बंगाली मूल के यात्री लॉक डाउन के चलते 23 मार्च से यहां फसे हुए है और इन यात्रियों की घर वापसी को सुध अभी तक किसी ने नही ली है।

आज यह सभी यात्री इक्कट्ठा होकर जिला पर्यटन अधिकारी के कार्यालय पर पहुचे और घर वापसी के लिए ज्ञापन दिया इन यात्रियों ने बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बैनर्जी से हाथ जोड़ कर अपील भी की है कि वह इनकी घर वापसी कराए।

बंगाल राज्य के हरिद्वार में फसे यात्रियों का कहना है कि हम हरिद्वार यात्रा करने आए थे और तभी 23 मार्च से लॉक डाउन हो गया तब से लेकर अभी तक हम हरिद्वार में ही फंसे हुए है प्रशासन द्वारा रोजाना हमारे रहने और खाने की व्यवस्था की जा रही है मगर हम अपने घर वापस जाना चाहते है मगर हमारी कोई सुध नही ले रहा है बार बार आग्रह करने पर भी हमारी कोई सुनवाई नही हो रही है हमारे घर मे बुजुर्ग है जिनकी हमे देखभाल करनी पड़ती है। कब तक हम यही पर फंसे रहेगें, दूसरे राज्य के यात्रियों को भेजा जा रहा है पर हमारी कोई सुनवाई नही हो रही है। हम काफी परेशान है हमारी मानसिक स्थिति खराब होती जा रही है हमे भी वापस भेजने की व्यवस्था की जाने चाहिए वहीं यह बंगाली यात्री हाथ जोड़ कर बंगाल की मुख्यमंत्री ममता दीदी से प्रार्थना कर रहे है कि वह इनके घर वापस लौटने की व्यवस्था करे ताकि यह अपने परिवार वालो के पास वापस लौट सके।

इस पर हरिद्वार की पर्यटन अधिकारी का कहना है कि यह करीब 700 बंगाली यात्री है जो लॉक डाउन से पहले हरिद्वार में फंसे है। यह काफी बार हमारे पास आ चुके है इनकी मांग है कि इनको इनके राज्य वापस भेजा जाए इनकी अलग अलग परेशानी है, जिस कारण यह घर वापस जाना चाहते है। हालांकि यहां हरिद्वार में भी प्रशासन द्वारा इनके रहने खाने पीने की व्यवस्था की गई है, आज इन यात्रियों के द्वारा घर वापसी के लिए एक ज्ञापन मुझे सौपा गया है इनकी घर वापसी हो सके इसके लिए जिलाधिकारी महोदय की शासन स्तर पर बात चल रही है और बंगाल सरकार से भी इनकी घर वापसी के लिए वार्ता की जा रही है अभी इनकी अनुमति नही हुई है ,उम्मीद है जल्द अनुमति मिलने पर इनको इनके राज्य वापस भेजा जाएगा।