ALL विज्ञान स्वास्थ्य स्वाद समाचार ज्ञानवर्धक जानकारी जनहित abhivyakti
मानव स्वास्थ्य एवं कैंसर की रोकथाम पर हुआ राष्ट्रीय वेबीनार का आयोजन
August 4, 2020 • Dr. SANDEEP BHARDWAJ

राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय,ऋषिकेश (श्री देव सुमन उत्तराखंड विश्वविद्यालय परिसर)  के मेडिकल लैब टेक्नोलॉजी विभाग के तत्वाधान आज एक राष्ट्रीय वेबीनार आयोजित किया गया, जिसमें मानव स्वास्थ्य एवं कैंसर की रोकथाम संबंधित विषय पर व्याख्यान/ चर्चा हुई।
वेबीनार का संचालन सफ़िया हसन द्वारा किया गया।
वेबीनार के मुख्य अतिथि प्रो पी पी ध्यानी, कुलपति, श्री देव सुमन विश्वविद्यालय, व महाविद्यालय की प्राचार्या प्रो सुधा भारद्वाज थी
इस वेबिनार में बतौर मुख्य वक्ता प्रो॰ राणा प्रताप सिंह, रेक्टर/प्रो वाइस चांसलर, जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (नई दिल्ली) थे, प्रो॰ राणा प्रताप सिंह जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में कैंसर बायोलॉजी के प्रोफेसर है जिनकी विशेषज्ञता कैंसर रिसर्च है ।
वेबिनार का उद्घाटन मेडिकल लैब टेक्नोलॉजी की छात्रा वैष्णवी तिवारी के मंत्रोच्चारण द्वारा किया गया, 
इस वेबिनार के आयोजन सचिव प्रो गुलशन कुमार ढींगरा ने बताया कि प्रो राणा प्रताप सिंह ने कैंसर के विभिन्न विषयों पर अनुसंधान किया है तथा उन्होंने अब तक कई पुस्तक व शोध पत्रों का लेखन किया है। उन्होंने अपने शैक्षणिक करियर में कनाडा, अमेरिका, चीन, तुर्की आदि देशो में शैक्षिक उद्देश्य से जा चुके हैं तथा जे एन यू व दूसरे विश्वविद्यालयो के महवपूर्ण पद पर मनोनीत रहे हैं।

वेबिनार के मुख्य संरक्षक प्रो॰ पी.पी ध्यानी,कुलपति, श्रीदेव सुमन विश्वविद्यालय ने वेबिनार के आयोजन के लिए विभाग, व महाविद्यालय को बधाई दी तथा कहा कि इस तरह की बीमारी के लिए वेबिनार व चर्चा की बहुत आवश्यकता है उन्होंने विभाग से अपेक्षा की 15 दिन का जागरूकता अभियान चलाया जाए जिससे कैंसर से पीड़ित लोगों व उनके परिजनों को मानसिक तनाव से बचाया जाए व उत्तराखंड के औषधीय पौधों पर अनुसंधान करने को कहा।
 वेबिनार की संरक्षक प्रो॰ सुधा भारद्वाज, प्राचार्या, ने प्रो राणा पी सिंह व व कुलपति प्रो पी पी ध्यानी व सभी प्रतिभागियों का स्वागत किया, व कहा कि यह वेबिनार सभी के लिए बहुत उपयोगी सिद्ध होगा।
मुख्य वक्ता प्रो राणा प्रताप सिंह ने जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय के बारे बताया व वहां कि जैब विविधता के बारे में बताया, उन्होंने बताया कि WHO के आँकड़ो अनुसार 2020 तक विकासशील देशों में कैंसर से पीड़ित लोगों का आंकड़ा 20 लाख तक पहुँच जाएगा, इसके साथ उन्होंने बताया कि ICMR के अनुसार भारत मे अभी लगभग 17 लाख कैंसर के नए मरीज है और 8 लाख की मृत्यु हो चुकी हैं। विश्व भर में लगभग 200 प्रकार के कैंसर है जिसमें भारत में मुँह का कैंसर, गर्भाशय, सर्विसक्स, ब्रेस्ट कैंसर मुख्यतः होता है।

उन्होंने कैंसर के उत्तपन्न होने के कारणों पर चर्चा की, उन्होंने कहा कि यदि सभी जागरुक रहे तो कैंसर से बचा जा सकता है, उन्होंने कई औषधीय गुणों युक्त पोधों के बारे मे बताया जिनके उपयोग कर कैंसर से बचा जा सकता है, उन्होंने कैंसर जागरूक के लिए चलाए जा रहे अनेको प्रोग्राम के बारे में भी बताया।
अंत मे प्रो सुषमा भारद्वाज द्वारा मुख्य वक्ता का धन्यवाद ज्ञापित किया और कहा कि यह वेबिनार सभी के लिए लाभदायक सिद्ध हुआ। उन्होंने सभी प्रतिभागियों के प्रश्नों के जवाब दिए।

 मेडिकल लैब टेक्नोलॉजी विभाग की आयोजन समिति में प्रवक्ता श्रीमती शालिनी कोटियाल, सुश्री सफिया हसन,श्री अर्जुन पालीवाल एवं तकनीकी सहायता के लिए श्री देवेंद्र भट्ट तथा श्री विवेक राजभर ने सहयोग प्रदान किया।