ALL विज्ञान स्वास्थ्य स्वाद समाचार ज्ञानवर्धक जानकारी जनहित abhivyakti
किसने उठाई,पत्रकार संरक्षण आयोग के गठन की मांग
May 12, 2020 • SANJEEV SHARMA

संजीव शर्मा, हरिद्वारः  देश की कई राज्यो, शहरो, गली-महोल्लो इत्यादि क्षेत्रों मे कोविड-19 से पीडित व हर वर्ग के सामाजिक क्षेत्रों मे क्या गतिविधिया कर रहा है। उसको पारदर्शिता के साथ अपने प्रकाशन के माध्यम से देश दुनिया व शासन- प्रशासन को अवगत कराने वाले देश के सभी पत्रकार बन्दुओ को केंद्र व राज्य सरकारों द्वारा कोरोना वायरस की इस जंग के दृष्टिगत सरकारों की और से 30-30 लाख तक की बीमा राशि व केंद्र सरकार द्वारा पत्रकार संरक्षण आयोग का गठन किये जाने की मांग को लेकर उत्तराखंड विकास मंच के प्रांतीय अध्यक्ष संजय चोपडा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र लिखा।
भारत देश मे कोरोना वायरस की वास्तु स्थिति के कवरेज के दौरान बहुत से क्षेत्रों मे पत्रकार बंदु अपने प्राण गवा के जनता को सच दिखाने के मोहिम चलाये हुए है। इसी के दृष्टिगत देश के लोकतंत्र मे चौथा स्तंभ के रूप मे अपनी सेवा देने वाले पत्रकार बन्दुओ को उचित प्रबंधनो के साथ सरकार द्वारा संरक्षण दिया जाना वर्तमान परिस्थिति को देखते हुए नितांत आवश्यक है।

इस अवसर पर उत्तराखंड विकास मंच के प्रांतीय अध्यक्ष संजय चोपडा ने कहा केंद्र व राज्य सरकारो द्वारा लगातर पत्रकार बन्दुओ पर कोरोना वायरस की इस जंग में देश के प्रति समर्पित निष्ठा से कार्य करते हुए बहुत सी घठनाए सामने आ रही है। ऐसे मे देश के लोकतंत्र के चैथे स्तंभ पत्रकार बंदुओ को जो गांव, शहर, महोल्लो, बस्तियों इत्यादि क्षेत्रो मे निरंतर अपने संसाधनो के माध्यम से निरंतर जनता को सच दिखाने की मोहिम में है। बहुत से क्षेत्र मे कोरोना वायरस की वजह से अपनी जान गवा चुके है। इन सबके दृष्टिगत केंद्र सरकार द्वारा पत्रकार आयोग का गठन किया जाना अतिआवश्यक है।

उन्होने यह भी कहा कि पत्रकार बन्दु जनता के संरक्षक की भूमि निभाते हुए अपने कर्तव्यो का निर्वाह सच्ची लगन के साथ कर रहे है। इसी सच्ची निष्ठा के साथ अपने मनोबल को बरकरार रखते हुए देश की सेवा करने वाले पत्रकार बन्दुओ को सरकार की और से संरक्षण दिया जाना न्यायसंगत होगा।