ALL विज्ञान स्वास्थ्य स्वाद समाचार ज्ञानवर्धक जानकारी जनहित abhivyakti
जानियेः कितना नमक खाना चाहिए हमें खाने में
July 3, 2020 • SANJEEV SHARMA
यदि खाने में नमक ना हो तो वह खाना बेस्वाद हो जाता है। लेकिन यदि शरीर में ज्यादा नमक हो जाए तो इससे कई बीमारियां भी होने लगती हैं। भारत में अधिकतर लोग एक ही दिन में 12 ग्राम से भी ज्यादा नमक खाते हैं, जो कि नुकसानदायक है। 
ज्यादा नमक खाने से नुकसान -

1. नमक के अधिक सेवन से हाई ब्लड प्रेशर की समस्या बढ़ सकती है। ब्लड प्रेशर बढ़ने पर नमक नहीं खाना चाहिए , नमक की मात्रा अधिक होने पर हार्ट अटैक, स्ट्रोक जैसी बीमारियां भी होने की आशंका होती है।
2. ज्यादा नमक खाने पर स्ट्रोक का खतरा बढ़ जाता है।  मस्तिष्क के नसों में ब्लॉकेज होने पर स्ट्रोक होता है, लेकिन खाने में नमक की मात्रा कम होने पर यह खतरा कम हो जाता है।  अधिकांश लोग यह सोंचते हैं कि उम्र बढ़ने के साथ-साथ स्ट्रोक होने का खतरा बढ़ता है, लेकिन ऐसा नहीं है। हमारे अनियमित खान-पान का असर शरीर पर धीरे-धीरे होता है, इसलिए ज्यादा उम्र होने पर यह समस्याएं खड़ी हो जाती हैं।

3. कोरोनरी हार्ड डिसीज में नसें मोटी और डैमेज हो जाती हैं। जिससे खून दिल तक काफी कम मात्रा में पहुंचता है, जिसके कारण हार्ट अटैक होने का खतरा बढ़ता है.  खाने में नमक कम लेने पर इस बीमारी की आशंका कम हो जाती है. 
 
4. नमक में एक प्रकार का हेलीकोबैक्टर पिलोरी नामक बैक्टीरिया होता है, जो पेट की सूजन को बढ़ाता है। यदि इस बैक्टीरिया की मात्रा पेट में बढ़ती है तो इससे पेट में अल्सर और कैंसर की बीमारियों का खतरा होने की आशंका बढ़ जाती है.

5. किडनी में खराबी का कारण शरीर में सोडियम की अधिक मात्रा का होना है। नमक ज्यादा खाने से किडनी में पथरी होने का खतरा बढ़ सकता है, क्योंकि नमक में सोडियम की अधिक मात्रा होती है।

6. खाने में ज्यादा नमक के सेवन से हड्डियों की कैल्शियम की मात्रा कम हो जाती है और नमक की अधिक मात्रा हड्डियों को कमजोर बनाती है। 

नोटः इस लेख में दी गयी जानकारी कुछ खास स्वास्थ्य स्थितियों और उनके संभावित उपचार के संबंध में है। यह किसी योग्य और लाइसेंस प्राप्त चिकित्सक द्वारा दी जाने वाली स्वास्थ्य सेवा, जांच, निदान और इलाज का विकल्प नहीं है। किसी भी स्वास्थ्य संबंधी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार के लिए बिना विशेषज्ञ की सलाह के ना करें।