ALL विज्ञान स्वास्थ्य स्वाद समाचार ज्ञानवर्धक जानकारी जनहित abhivyakti
जानियेः गुरुकुल काँगड़ी विश्वविद्यालय में कैसे होगीं परीक्षा आयोजित
June 27, 2020 • SANJEEV SHARMA

संजीव शर्मा, हरिद्वारः देश भर में कोरोना वायरस चरम पर है। ऐसे में सभी विश्वविद्यालयों में अध्ययनरत्त छात्र छात्राओं की परीक्षाओं को लेकर असमंजस कि स्थिति बनी हुई है। ऐसे में गुरुकुल काँगड़ी विश्वविद्यालय, हरिद्वार में परीक्षाओं को सम्पन्न कराने के लिए एक बैठक बुलाई गयी। जिसमे परीक्षा कराने के निर्णय लिए गए।

इस संदर्भ में गुरुकुल काँगड़ी विश्वविद्यालय, हरिद्वार के परीक्षा नियंत्रक प्रोफेसर एम आर वर्मा ने बताया कि सत्र 2019-20 में अध्ययनरत जिन छात्र-छात्राओं की सत्रीय परीक्षायें अभी नही हुई हैं। उनकी सत्रीय परीक्षायें  01 जुलाई से 20 जुलाई 2020 के मध्य ऑनलाइन करायी जायेंगी। सत्रीय परीक्षा का प्रारुप बहुविकल्पीय वस्तुनिष्ठ प्रश्नों का होगा। यह परीक्षा 01 घंटे की होगी। जिसमें 30 प्रश्न पूछे जायेंगे। प्रत्येक प्रश्न 01 अंक का होगा।

सत्रीय परीक्षाओं की तिथि, सिलेबस एवं किस ऑनलाइन माध्यम से परीक्षा कराई जायेगी इसकी जानकारी के लिये परीक्षार्थी, पाठ्यक्रम पढ़ाने वाले अपने शिक्षक-शिक्षिकाओं अथवा विभागाध्यक्षों से सम्पर्क करलें। इन आनलाइन परीक्षाओं में वे विद्यार्थी भी सम्मिलित हो सकते हैं। जिन्होने पहले ऑफलाइन परीक्षा दे रखी हैं, किन्तु दुबारा परीक्षा देने के इच्छुक हैं। उन्होने बताया कि इन ऑनलाइन सत्रीय परीक्षाओं में यदि कोई परीक्षार्थी किसी कारणवश भाग नही ले पाता है तो विश्वविद्यालय खुलने के बाद सम्बन्धित विभाग द्वारा उसकी ऑनलाइन सत्रीय परीक्षा विश्वविद्यालय में ही कराई जायेगी। तत्पश्चात उसका इस सत्र का परीक्षा परिणाम घोषित किया जायेगा।
प्रोफेसर वर्मा ने बताया कि यू0जी0सी0 के दिशानिर्देश के अनुरुप वर्तमान सत्र के छात्र, छात्राओं के लिये सेमेस्टर परीक्षायें आयोजित नही की जायेंगी। उनका परीक्षा परिणाम उनके द्वारा इस सत्र में प्राप्त सत्रीय परीक्षाओं के अंक तथा पिछले सेमेस्टर/सेमेस्टरों में प्राप्त अंको के औसत का योग कर घोषित किया जायेगा। प्रयोगात्मक परीक्षा के लिये पिछले सेमेस्टर/सेमेस्टरों की प्रयोगात्मक परीक्षाओं के प्राप्तांको का औसत तथा सैद्धान्तिक परीक्षाओं के लिये पिछले सेमेस्टर/सेमेस्टरों के प्राप्तांको का औसत लिया जायेगा। जो परीक्षार्थी पिछले सेमेस्टर/सेमेस्टरों के किसी प्रश्नपत्र की परीक्षा में फेल अथवा अनुपस्थित थे उन्हें भविष्य में होने वाली विश्वविद्यालय की ऑफलाइन परीक्षाओं में नियमानुसार अवसर दिया जायेगा। आगे होने वाली ऑफलाइन परीक्षा में उनके द्वारा प्राप्त अंको के अनुसार इस सेमेस्टर में अंको के औसत के आधार पर दिये गये उनके परीक्षा परिणाम को सुधार दिया जायेगा।