ALL विज्ञान स्वास्थ्य स्वाद समाचार ज्ञानवर्धक जानकारी जनहित abhivyakti
जानिये, कहां हुआ दुनिया की पहली कोरोना वायरस वैक्सीन का, सफल परीक्षण
July 13, 2020 • SANDEEP BHARDWAJ

रूस ने किया कोरोना वायरस वैक्सीन का सफलतापूर्वक परीक्षण पूरा। रूस की सेचेनोव फर्स्ट मॉस्को स्टेट मेडिकल यूनिवर्सिटी का कहना है कि उसने वॉलंटीयर्स पर दुनिया की पहली कोरोना वायरस वैक्‍सीन के क्लीनिकल ट्रायल सफलतापूर्वक पूरे कर लिए हैं। अगर यह दावा सच निकला तो यह कोरोना वायरस की पहली वैक्‍सीन होगी।

प्राप्त जानकारी के अनुसार रूस की सेचेनोव यूनिवर्सिटी में 13 जुलाई2020 को दुनिया की पहली कोरोना वायरस वैक्सीन का सफलतापूर्वक परीक्षण पूरा किया। ट्रांसलेशनल मेडिसिन एंड बायोटेक्नोलॉजी वुतिम तारासोव संस्थान के निदेशक ने बताया कि जिन लोगों पर इस वैक्सीन का परीक्षण किया गया है,उनमें से पहले समूह को बुधवार (15 जुलाई) को तथा दूसरे समूह को 20 जुलाई को अस्पताल से छुट्टी दी जाएगी।

रूस के 'द गैमली इंस्टीट्यूट ऑफ एपिडेमियोलॉजी एंड माइक्रोबायोलॉजी' द्वारा विकसित की गई वैक्सीन के चिकित्सकीय परीक्षण की शुरुआत 18 जून से शुरू हुई थी।

सेचेनोव विश्वविद्यालय में चिकित्सा विज्ञान, उष्णकटिबंधीय एवं संक्रमण जनित रोग संस्थान के निदेशक अलेक्जेंडर लुकाशेव ने बताया कि इस ट्रायल का मकसद यह पता लगाना है कि क्या यह वैक्सिन मानव स्वास्थ्य के लिए सुरक्षित है और इसे सफलतापूर्वक पूरा कर लिया गया है। उन्होंने, कहा कि वैक्सीन के सुरक्षित होने की पुष्टि हो चुकी है और यह मौजूदा समय में बाजार में उपलब्ध टीकों के समान सुरक्षित है। तारासोव ने आगे कहा कि सेचनोव यूनिवर्सिटी ने महामारी की स्थिति में न केवल एक शैक्षणिक संस्थान की भांति बल्कि एक ऐसे साइंटिफिक व टेक्नोलॉजिकल रिसर्च सेंटर के रूप में भी काम किया, जो महत्वपूर्ण व जटिल दवाओं के क्रिएशन में भाग लेने के लिए सक्षम है।

 

रूस में दुनिया की पहली कोरोना वायरस वैक्सीन का सफल परीक्षण, इंसानों के लिए पूरी तरह सुरक्षित