ALL विज्ञान स्वास्थ्य स्वाद समाचार ज्ञानवर्धक जानकारी जनहित abhivyakti
होम कोरंटीन किये गये लोगों पर नजर रखने के लिए बनाया,सेफ हरिद्वार पोर्टल
June 16, 2020 • SANJEEV SHARMA

समस्त समाचारों की ताजा अपडेट जानने के लिये  दिये गये लिंक पर जायें https://navaltimes.in

संजीव शर्मा, हरिद्वारः  जिलाधिकारी हरिद्वार सी. रविशंकर ने आज कलेक्टेट सभागार में ’सेफ हरिद्वार’ नाम से बनाये गये पोर्टल का उद्घाटन किया। यह पोर्टल जनपद हरिद्वार की विभिन्न सीमाओं में अन्य राज्यों से प्रवेश करने वाले लोगों को होम कोरंटीन किये जाने तथा उनकी निगरानी रखने के लिए बनाया गया है। पोर्टल के सभी फीचर वर्तमान में नगर निगम हरिद्वार के आयुक्त नरेंद्र भण्डारी द्वारा तैयार किये गये हैं। भण्डारी सोफ्टवेयर इंजीनियरिंग के छात्र रहे हैं। उन्हीं के द्वारा पोर्टल का निर्माण किया गया है।
जिलाधिकारी ने जानकारी देते हुए बताया कि यह पोर्टल होम कोरंटीन किये जा रहे लोगों पर कड़ी नजर रखने के लिए जिला प्रशासन तथा स्वास्थ्य विभाग के लिए अत्यधिक कारगर सिद्ध होगा। बाॅर्डर पर पहुंचने वाले प्रत्येक व्यक्ति की पहचान और मोबाइल नम्बर पोर्टल पर दर्ज किया जायेगा। पोर्टल पर दर्ज होते ही उस व्यक्ति के बताये गये क्षेत्र की आशा कार्यकत्री तथा प्रधान और पार्षद के पास तत्काल ही एक मैसेज जायेगा कि अमुक व्यक्ति को होम कोरंटीन रहने के लिए कहा गया है। सम्बंधित क्षेत्र की आशा कार्यकत्री व जनप्रतिनिधि को होम कोरंटीन का उल्लंघन न करने देने के लिए बताया जायेगा। व आशा कार्यकत्री द्वारा उक्त व्यक्ति की स्वास्थ्य पर भी निगाह रखी जायेगी।
तीनों व्यक्तियो को संदेश का पालन करना अनिवार्य होगा। व्यक्ति के लक्षण छुपाने तथा होम कोरंटीन का उल्लंघन करते पाये जाने पर आपदा अधिनियम 2005 के अंतर्गत मुकदमा व जेल भी होेगी। 24 घंटे के अंदर स्वास्थ्य विभाग की टीम को उक्त अमुक व्यक्ति के घर के बाहर होम कोरंटीन का पोस्टर चस्पा करना होगा।

डीएम ने कहा कि 14 दिन की अवधि पूर्ण कर लेने पर स्वतः ही उस व्यक्ति के मोबाइल पर उसका डिस्चार्ज प्रामण पत्र प्रेषित हो जायेगा और व्यक्ति स्वस्थ माना जायेगा। प्रमाण पत्र जनरेट होने से स्वास्थ्य विभाग द्वारा प्रमाण पत्र निर्गत करने की प्रतीक्षा में अनावश्यक समय की बर्बादी भी नहीं होगी। पोर्टल प्रक्रिया पर माॅनिटरिंग करने से उपलब्ध मानव संसाधनों से भी कार्य सरलता से किया जा सकेगा। होम कोरंटीन किये जा रहे व्यक्ति द्वारा सही जानकारी दिये जाने से उसके परिजनों सहित बड़ी जनसंख्या के स्वास्थ्य की सुरक्षा होगी।  इस अवसर डिप्टी कलैक्टर शैलेंद्र सिंह नेगी, सहायक नगर आयुक्त तनवीर, नोडल होम कोरंटीन डा त्रिभुवन बेंजवाल, डाॅ नरेश चैधरी सहित स्वास्थ विभाग के कर्मी उपस्थित रहे।