ALL विज्ञान स्वास्थ्य स्वाद समाचार ज्ञानवर्धक जानकारी जनहित abhivyakti
हो सकता था बडा हादसाः सेक्टर 2, बीएचएल, स्कूल के सामने की घटना
June 24, 2020 • SANJEEV SHARMA

संजीव शर्मा, हरिद्वारः सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कॉलेज सेक्टर 2 बीएचएल स्कूल के गेट के आगे बने गड्ढे ने बढ़ाई स्वास्थ्य विभाग की परेशानी यह केवल स्वास्थ्य व के साथ ही नहीं बल्कि आज सुबह से स्कूल में आने वाले बच्चों और वहां से गुजरने वाले और भी वाहनों के साथ ऐसा हुआ सेक्टर 2 बीएचएल में स्थित स्कूल के मेन गेट के सामने गैस पाइपलाइन डाली जाने के दौरान जो गड्ढा किया गया उसको ठीक से भरा नहीं गया और बारिश होने के कारण वहां की मिट्टी भी ढीली पड़ गई और जैसे ही स्वास्थ्य विभाग की टीम जिसमें डॉक्टर स्कूल में  बच्चों की स्वास्थ्य संबंधित जानकारी लेने के लिए जा रहे थे तो उनकी गाड़ी इस गड्ढे में फंस  गई उसकी स्थिति यह है कि घंटों की मशक्कत के बाद भी अभी तक गाड़ी बात नहीं निकल पाई है। 

यह तो केवल एक सरकारी स्वास्थ्य विभाग की गाड़ी की बात है जानकारी के अनुसार इससे पहले भी बच्चों की साइकिलें ,लोगों की बाइकें इन खुद्दे हुये गड्डों में गिर चुके हैं और कई चोटिल भी हो गए हैं । आसपास के लोगों ने बड़ी मुश्किल से उनकी गाड़ियों को  निकलवाया । पता चला है कि ये गड्डे गैस पाइपलाइन डालने वाली कंपनी ने खोद्दे थे मगर तरीके से इन्हे भरा नही गया जिस्से ये दुर्घटनायें होरही हैं। इसकी जिम्मेदारी कौन लेगा ? क्या गैस पाइपलाइन डालने वाली कंपनी ? या स्कूल प्रशासन जिसके मेन गेट के सामने गड्डा हो रखा था आऔर उन्होने ध्यान भी नही दिया ?

बातचीत में बातचीत में स्वास्थ्य टीम में आए डॉ मनवीर सिंह ने बताया कि वह अभी बीएचएल जीआईसी से स्वास्थ्य संबंधित जानकारी लेकर आ रहे हैं और अब वो सरस्वती विद्या मंदिर सेक्टर 2 में जा रहे थे जब ये हादसा हुआ। जिसके बाद अब उन्हें ज्वालापुर के जीजीआईसी में भी जाना है।

यह हाल केवल सरस्वती विद्या मंदिर स्कूल के सामने का नहीं है अगर हम इसी लाइन को आगे भी देखे हैं तो यह पूरे में ही परेशानी का सबब बनी हुई है कहीं भी खोदे गए गड्ढों को तरीके से नहीं भरा गया है जिस कारण आगे भी दुर्घटना होने का खतरा बना रहेगा है यह तो शुक्र है की गाड़ी के फंसने से कोई चोटिल नहीं हुआ केवल गाड़ी को ही नुकसान पहुंचा है नहीं तो हादसा बडा भी हो सकता था।

समाचार लिखे जाने तक गाड़ी निकालने के लिए लोग लगे हुए थे और यह पिछले डेढ़ घंटे से इसे निकालने की कोशिश कर रहे हैं