ALL विज्ञान स्वास्थ्य स्वाद समाचार ज्ञानवर्धक जानकारी जनहित abhivyakti
हवाई जहाज से आने वालो को स्वयं के भुगतान के आधार पर इंस्टीट्यूशनल क्वारेंटीन कर रहा प्रशासन
May 25, 2020 • SANJEEV SHARMA

नवल टाइम्सः जिलाधिकारी डाॅ आशीष कुमार श्रीवास्तव ने अवगत कराया कि वायु सेवा से जो व्यक्ति जौलीग्रान्ट एयरपोर्ट देहरादून आ रहे हैं, ऐसे सभी व्यक्तियों का स्वास्थ्य परीक्षण करते हुए उन्हें प्रशासन द्वारा अधिग्रहित होटल में स्वयं के भुगतान के आधार पर इंस्टीट्यूशनल क्वारेंटीन किया जा रहा है तथा एयरपोर्ट पर ही सभी व्यक्तियों को अधिग्रहण किये गये होटल की सूची तथा कमरों की निर्धारित दरों का विवरण उपलब्ध कराते हुए सम्बन्धित व्यक्तियों को अनुबन्धित वाहनों के माध्यम से  होटल में पंहुचाया गया।

ऐसे व्यक्ति संस्थागत क्वारेंटीन अवधि पूर्ण करने एवं स्वास्थ्य जांच रिपोर्ट प्राप्त होने के पश्चात अपने घर जा सकेगें। जिलाधिकारी ने बताया कि वन्दे भारत योजना के तहत् विदेशों से जिन व्यक्तियों को लाया जा रहा है, भारत सरकार के निर्देशानुसार ऐसे व्यक्तियों को 14 दिन के लिए संस्थागत क्वारेंटीन  किया जा रहा है, क्वारेंटीन अवधि पूर्ण करने के पश्चात वे सम्बन्धित राज्यों, जनपदो में जा सकेंगे जहां सम्बन्धित को होम क्वारेंटीन किया जायेगा।

जिलाधिकारी ने बताया कि जनपद में संस्थागत क्वारेंटीन हेतु पर्याप्त मात्रा में बेड उपलब्ध हैं,  जिन्हे आवश्यकतानुसार बढाया जा रहा है। जिलाधिकारी ने बताया कि रेड जोन से आने वाले व्यक्तियों को संस्थागत क्वारेंटीन किया जा रहा है। वायु सेवा के माध्यम से जौलीग्रान्ट एयरपोर्ट पर पंहुचे 114 व्यक्तियों को स्वास्थ्य परीक्षण उपरान्त जनपद में प्रशासन द्वारा अधिग्रहित विभिन्न होटल में संस्थागत क्वारेंटीन किया गया है।

इसी प्रकार जनपद के जौलीग्रान्ट एयरपोर्ट से विभिन्न प्रदेशों 137 व्यक्ति गंतव्यों हेतु गये। जिलाधिकारी ने स्पष्ट चेतावनी दी है कुछ व्यक्तियों द्वारा स्वास्थ्य जांचध्परीक्षण के दौरान जनपद के सीमाओं पर  अपना मोबाईल नम्बर गलत अंकित करवाया जा  रहा है, ऐसे व्यक्तियों द्वारा दिये गये पतों पर खोज-बीन के निर्देश देते हुए पुलिस विभाग को सम्बन्धित के विरूद्ध सुसंगत धाराओं में विधिक कार्यवाही करने के निर्देश दिये हैं। इसके अतिरक्ति जिलाधिकारी ने चेतावनी दी है कि कोविड-19 के सम्बन्ध में अफवाह फैलाने तथा भ्रामक मिथ्या प्रचार करने वालों के विरूद्ध सुसंगत धाराओं के अन्तर्गत विधिक कार्यवाही अमल में लाई जायेगी।