ALL विज्ञान स्वास्थ्य स्वाद समाचार ज्ञानवर्धक जानकारी जनहित abhivyakti
गंगा किनारे हरियाणा से आये लोग पी रहे बियर व नशाखोरीः किसने लगायी जम के क्लास
June 25, 2020 • SANJEEV SHARMA

नवल टाइम्स,हरिद्वारः  कोविड-19 के दृष्टिगत लॉकडाउन अवधि समाप्त होने के उपरांत अनलॉक में अन्य राज्यो हरियाणा, राजस्थान, यूपी, दिल्ली, पंजाब इत्यादि राज्यो से आने वाले तीर्थ यात्रियों का सिलसिला धर्मनगरी हरिद्वार में जारी है।

वहीं कुछ ऐसे शरारती तत्व भी है जो धर्मनगरी हरिद्वार में कुकर्म, मौज मस्ती, शराब, बियर, सुल्फा, गांजा नशाखोरी की बदनीयती से आकर धर्मनगरी हरिद्वार की धार्मिक परंपराओं व तीर्थ की मर्यादा का उल्लंघन कर सरेआम गंगा किनारे शराब परोसते व पीते जा सकते है।

सार्वजनिक तौर पर गंगा किनारे नशाखोरी के खिलाफ तीर्थ की मर्यादा बनाये रखने को लेकर जन जागरण अभियान चलते पूर्व कृषि उत्पादन मंडी समिति अध्यक्ष, सामाजिक कार्यकर्ता संजय चोपड़ा ने 21 तारीख पूर्व की गंगा किनारे शराब पीने की घटना के उपरांत नीलधारा स्थित ठोकर नं.-17 पर पुनः हरियाणा राज्य से आये 06 लोगो को सरेआम बियर पीने व नशाखोरी के खिलाफ जमकर लताड़ा।

इस अवसर पर पूर्व कृषि उत्पादन मंडी समिति अध्यक्ष, सामाजिक कार्यकर्ता संजय चोपड़ा ने कहा अनलॉक में अन्य राज्य से तीर्थ यात्री अपने पूर्वजों की अस्थि विसर्जन के लिए आ रहे है। वहीं कुछ उत्पाती धर्म की दुहाई देने वाले कुकर्मी तीर्थो की मर्यादा पर बट्टा लगा रहे है। जबकि हरिद्वार में नगर निगम के बायलोज के हिसाब से हरिद्वार पूर्ण रूप से सार्वजनिक तौर पर नशा प्रतिबंधित है।

उन्होंने कहा कि तीर्थ नगरी हरिद्वार में शराब, अंडा, मांस इत्यादि हिन्दू धर्म को प्रभावित करने वाली अन्य गतिविधियों को अंग्रेजी हुकूमत के दौरान ही प्रतिबंधित किया जा चुका है। ऐसे में बेरोक-टोक हरिद्वार में आने वाले कुकर्मीयो की आये दिन गंगा किनारे शराब पीते हुए देखे जाने की घटना दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। चोपड़ा ने शासन- प्रशासन से मांग की तीर्थ की मर्यादा बरकरार रहे और धर्म प्रेमियों की आस्था पर कुठाराघात ना हो इसके लिएपुलिस प्रशासन को ग्रस्त व सर्च अभियान चलाने चाहिए।

गंगा किनारे हरियाणा से आये लोगों ने सरेआम बियर पीने व नशाखोरी कर रहे लोगांे को जमकर लताड़ा     

नवल टाइम्स,हरिद्वारः  कोविड-19 के दृष्टिगत लॉकडाउन अवधि समाप्त होने के उपरांत अनलॉक में अन्य राज्यो हरियाणा, राजस्थान, यूपी, दिल्ली, पंजाब इत्यादि राज्यो से आने वाले तीर्थ यात्रियों का सिलसिला धर्मनगरी हरिद्वार में जारी है।

वहीं कुछ ऐसे शरारती तत्व भी है जो धर्मनगरी हरिद्वार में कुकर्म, मौज मस्ती, शराब, बियर, सुल्फा, गांजा नशाखोरी की बदनीयती से आकर धर्मनगरी हरिद्वार की धार्मिक परंपराओं व तीर्थ की मर्यादा का उल्लंघन कर सरेआम गंगा किनारे शराब परोसते व पीते जा सकते है।

सार्वजनिक तौर पर गंगा किनारे नशाखोरी के खिलाफ तीर्थ की मर्यादा बनाये रखने को लेकर जन जागरण अभियान चलते पूर्व कृषि उत्पादन मंडी समिति अध्यक्ष, सामाजिक कार्यकर्ता संजय चोपड़ा ने 21 तारीख पूर्व की गंगा किनारे शराब पीने की घटना के उपरांत नीलधारा स्थित ठोकर नं.-17 पर पुनः हरियाणा राज्य से आये 06 लोगो को सरेआम बियर पीने व नशाखोरी के खिलाफ जमकर लताड़ा।

इस अवसर पर पूर्व कृषि उत्पादन मंडी समिति अध्यक्ष, सामाजिक कार्यकर्ता संजय चोपड़ा ने कहा अनलॉक में अन्य राज्य से तीर्थ यात्री अपने पूर्वजों की अस्थि विसर्जन के लिए आ रहे है। वहीं कुछ उत्पाती धर्म की दुहाई देने वाले कुकर्मी तीर्थो की मर्यादा पर बट्टा लगा रहे है। जबकि हरिद्वार में नगर निगम के बायलोज के हिसाब से हरिद्वार पूर्ण रूप से सार्वजनिक तौर पर नशा प्रतिबंधित है।

उन्होंने कहा कि तीर्थ नगरी हरिद्वार में शराब, अंडा, मांस इत्यादि हिन्दू धर्म को प्रभावित करने वाली अन्य गतिविधियों को अंग्रेजी हुकूमत के दौरान ही प्रतिबंधित किया जा चुका है। ऐसे में बेरोक-टोक हरिद्वार में आने वाले कुकर्मीयो की आये दिन गंगा किनारे शराब पीते हुए देखे जाने की घटना दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। चोपड़ा ने शासन- प्रशासन से मांग की तीर्थ की मर्यादा बरकरार रहे और धर्म प्रेमियों की आस्था पर कुठाराघात ना हो इसके लिएपुलिस प्रशासन को ग्रस्त व सर्च अभियान चलाने चाहिए।