ALL विज्ञान स्वास्थ्य स्वाद समाचार ज्ञानवर्धक जानकारी जनहित abhivyakti
गाज़ियाबाद में पत्रकार की गोली मारकर हत्या
July 22, 2020 • Dr. SANDEEP BHARDWAJ

उत्तर प्रदेश के गाज़ियाबाद में बदमाश इतने बेखौफ हो गए हैं कि वह पत्रकारों पर भी गोली चलाने लगे हैं। दरअसल, गाज़ियाबाद में पत्रकार ने अपनी भांजी के छेड़ने की तहरीर पुलिस को दी थी। पुलिस ने ना उसमें कार्रवाई की और ना ही किसी की गिरफ्तारी की इसके बाद तहरीर देने से नाराज़ बदमाशों ने सोमवार की देर रात पत्रकार को गोली मार दी  थी, जिसमें पत्रकार की उपचार के दौरान मौत हो गई।

थाना विजयनगर क्षेत्र के अंतर्गत हुई घटना के संबंध में पुलिस अधिकारी ने बताया है कि इस घटना में 9 आरोपयों को अब तक गिरफ्तार करने के साथ ही संबंधित चौकी इंचार्ज को सस्पेंड किया गया है। 

पत्रकार विक्रम जोशी की रिश्तेदार ने मीडिया को बताया कि किस तरह उन्हें परेशान किया जा रहा था। वहीं, बदमाशों की गोली से घायल हुए पत्रकार विक्रम जोशी की इलाज के दौरान मौत हो गई है। उनके भाई ने इसकी जानकारी दी। विक्रम ने बदमाशों के खिलाफ छेड़छाड़ का मुकदमा दर्ज कराया था। इसके बाद बदमाशों ने सोमवार देर रात उनके सिर में गोली मारी थी।

गौरतलब हैं कि दिल्ली से सटे गाज़ियाबाद में सोमवार की रात बदमाशों ने एक पत्रकार को गोली मारी थी, क्योंकि उसने 16 जुलाई को भांजी के साथ हुई छेड़छाड़ की शिकायत की थी। सोमवार रात जब पत्रकार विक्रम जोशी पर हमला हुआ तब उनकी दो बेटियां भी बाइक पर सवार थीं।

परिजनों  के  मुताबिक, विक्रम जोशी बाइक चला रहे थे। इसी दौरान जब बाइक सड़क पर आई तो कुछ लोगों ने उन्हें घेर लिया और बाइक गिरा दी। जब विक्रम जोशी ने उन्हें रोकने की कोशिश की तो वे लोग  को विक्रम जोशी को मारने लगे। इस दौरान कार के पास ले जाकर एक हमलावर ने उनको गोली मार दी। इसके बाद हमला करने वाले हमलावर फरार हो गए। बुधवार की सुबह घायल पत्रकार ने अस्पताल में दम तोड़ दिया।

घटना की सूचना पाकर मौके पर पहुंचे वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक  ने तत्काल आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए टीमों का गठन कर दिया था। अब तक वारदात में शामिल 9 आरोपी गिरफ्तार हो चुके हैं। एसएसपी कलानिधि नैथानी ने पत्रकारों को बताया कि पीड़ित पत्रकार विक्रम जोशी एक स्थानीय दैनिक अखबार में रिपोर्टर हैं। उन्होंने बताया कि 9 आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। इसके साथ ही चौकी इंचार्ज सब इंस्पेक्टर राघवेंद्र को सस्पेंड कर मामले की जांच सीओ प्रथम को सौंप दी है।