ALL विज्ञान स्वास्थ्य स्वाद समाचार ज्ञानवर्धक जानकारी जनहित abhivyakti
एलसैट-इंडिया की परीक्षा होगी ऑनलाइन , लाॅ में प्रवेश मे क्रांतिकारी कदम
May 10, 2020 • SANJEEV SHARMA
नवल टाइम्सः अभूतपूर्व तकनीकी विकासक्रम के तहत अमरीका स्थित द लाॅ स्कूल एडमिशनल कौंसिल (एलएसएसी) ने कोविड-19 महामारी के कारण 2020 एलसैट -इंडिया इंट्रेंस एक्जामिनेशन को पहली बार ऑनलाइन कराने का निर्णय लिया है। यह पहला मौका है जब यह परीक्षा आनलाइन होगी। एलसैट-इंडिया की परीक्षा 2009 में अपनी शुरूआत के बाद से ही पेपर-पेंसिल आधारित परीक्षा थी लेकिन यह भारत की पहली और एकमात्र लाॅ प्रवेश परीक्षा बन गई है जो एआई इनेबल्ड रिमोट-प्रोक्टर्ड पर आधारित होगी।
पेपर-पेंसिल आधारित परीक्षा से ऑनलाइन परीक्षा आयोजित करने के इस कदम से उम्मीदवार अपने स्वास्थ्य और सुरक्षा की चिंता किए बिना अपने घर या अन्य सुविधाजनक स्थानों से परीक्षा देने में सक्षम होंगे।
देश के लॉ स्कूलों में प्रवेश पाने के इच्छुक उम्मीदवार ऑनलाइन टेस्ट डिलीवरी सिस्टम का उपयोग कर 14 जून 2020 से एलसैट -इंडिया दे सकेंगे।
दुनिया में कंप्यूटर आधारित परीक्षाओं में अग्रणी कंपनियों में से एक, पियर्सन वीयूई ने इस परीक्षा को एक आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (एआई) सक्षम आॅनलाइन समाधान की मदद से आयोजित करने की सिफारिश की है, ताकि उम्मीदवार अपने आवश्यक कॉलेज प्रवेश परीक्षाओं को सुरक्षित तरीके से दे सकें और कोविड-19 लाॅकडाउन के कारण लगाये गये प्रतिबंधों पर काबू पाया जा सके।
पियर्सन के वर्चुअल यूनिवर्सिटी एंटरप्राइजेज (वीयूई) के अस्तित्व के 25 से अधिक वर्षों में ऐसा पहली बार हुआ है कि एक आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस-सक्षम रिमोट-प्रोक्टर्ड ऑनलाइन समाधान को इस प्रारूप में उपलब्ध कराया गया है। जिंदल ग्लोबल लॉ स्कूल के सभी कार्यक्रमों में प्रवेश पाने के इच्छुक छात्र प्रवेश प्रक्रिया को एक कुशल और समयबद्ध तरीके से पूरा करने के लिए इस परीक्षा को अपने घरों की सुरक्षा में या अन्य सुरक्षित सुविधाजनक स्थानों से अपनी सुविधानुसार देे सकते हैं।
जिंदल ग्लोबल लॉ स्कूल (जेजीएलएस) को क्यूएस वल्र्ड स्कूल सब्जेट रैंकिंग 2020 में भारत के पहले नम्बर के लाॅ स्कूल का दर्जा दिया गया है तथा 101-150 षीर्श वैष्विक लाॅ स्कूलों में शामिल किया गया है। जेजीएलएस ने वर्ष 2020 की कक्षाओं के लिए अपने दरवाजे खोल दिए हैं। जेजीएलएस लाॅ और लीगल स्टडीज में चार प्रमुख डिग्री पाठ्यक्रम संचालित करता है।