ALL विज्ञान स्वास्थ्य स्वाद समाचार ज्ञानवर्धक जानकारी जनहित abhivyakti
दिल्ली में कोरोना योद्धा बनकर काम कर रही दून की बेटी ज्योति
April 12, 2020 • SANJEEV SHARMA

नवल टाइम्सः  कोरोना वायरस के संक्रमण से भारत को बचाने के लिए स्वास्थ्य विभाग के डॉक्टर व नर्स भगवान बनकर मरीजों के उपचार और देखभाल में लगे हैं। देश भर के अस्पतालों में डॉक्टर्स और नर्से दिन रात काम कर रहे हैं। ऐसे ही उत्तराखंड की बेटी ज्योति नागपाल भी दिल्ली के जग प्रवेश अस्पताल में लोगों की सेवा में जुटी है।
मूल रूप से चकराता निवासी 29 वर्षीय ज्योति पिछले चार साल से स्वास्थ्य सेवाओं में हैं। ज्योति ने बताया कि वह जग प्रवेश अस्पताल के जच्चा बच्चा विभाग में कार्यरत है। रोजाना वह 10 से 15 डिलीवरी कराती हैं। जबकि कई बार कोरोना से संक्रमित मरीज का भी उपचार या देखभाल करनी पड़ रही है। 14 से 15 घंटे की ड्यूटी करने के बाद घरवालों से फोन पर बात करने का समय ही नहीं मिलता।

उन्होंने बताया कि दिल्ली में वह अकेले ही रहती हैं। ऐसे में भोजन बनाने के लिए उन्हें समय नहीं मिलता। जिसके चलते अस्पातल की कैंटीन में ही भोजन करना पड़ता है और कई बार फल खा कर ही गुजारा करना पड़ रहा है। बावजूद इसके खुद को कोरोना के संक्रमण से बचाने के लिए ज्योति हर संभव कार्य कर रही है। दिन में दो बार नहाना, समय-समय पर हाथ धोना और डॉक्टरों व नर्सों से उचित दूर बनाकर काम करना। इन सबके बीच जच्चा बच्चा को स्वस्थ्य रखना बहुत चुनौतीपूर्ण हो रहा है। उधर रेसकोर्स निवासी ज्योति के पिता चरणजीत सिंह नागपाल ने बताया कि बेटी से रोजाना फोन पर भी संपर्क नहीं हो पा रहा है। कोरोना के बढ़ते मामलों के साथ बेटी की भी चिंता बढ़ रही है। ज्योति के साथ की एक महिला डॉक्टर को भी कोरोना के लक्षण दिखे हैं। इससे चिंता दोगुनी हो गई। इसके लिए हम ईश्वर से प्रार्थना कर रहे हैं कि जल्द देश से कोरोना वायरस खत्म हो जाए। हम जब भी बेटी को फोन कर रहे हैं तो बस यही कह रहे हैं कि जल्दी घर आ जाओ।