ALL विज्ञान स्वास्थ्य स्वाद समाचार ज्ञानवर्धक जानकारी जनहित abhivyakti
असामाजिक तत्व सरकारी राशन का कर रहें दुरुपयोगः संजय चोपड़ा 
April 13, 2020 • SANJEEV SHARMA

संजीव शर्मा, हरिद्वारः  कोविड-19 की वजह से बैसाखी का पावन पर्व देश-दुनिया में सादगी के साथ मनाया गया। केंद्र सरकार के निर्देशन में राज्य सरकार द्वारा सभी सस्ता गल्ला सरकारी राशन विक्रेताओं के माध्यम से गेहूं और चावल व दाल उपलब्ध कराई जा रही है ,लेकिन कुछ असामाजिक तत्व इस सरकारी राशन  दुरुपयोग कर ब्लैक मार्केट में बेच रहे हैं। जोकि असंगठित क्षेत्र के मजदूरों व गरीब लोगों के साथ धोखा व अन्य हो रहा है।  

राशन की कालाबाजारी रोकने के लिए पूर्व कृषि उत्पादन मंडी समिति अध्यक्ष भाजपा नेता संजय चोपड़ा ने मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत से नागरिक आपूर्ति के वरिष्ठ अधिकारियों से मांग की है कि आम उपभोक्ताओं को राशन वितरण के दौरान राज्य के सभी जिला पूर्ति अधिकारियों की निगरानी में गरीबों को राशन उपलब्ध कराया जाए। सरकार से यह भी मांग की 21 दिन के लोग डाउन ने गरीब व सामान्य वर्ग आर्थिक रूप से टूट गए हैं।

ऐसी स्थिति को दृष्टिगत सामान्य परिवार व गरीब परिवार के लोगों को एक योजना के तहत प्रत्येक माह का 15 किलो चावल, 25 किलो गेहूं, ढाई किलो दाल बिना राशन कार्ड के जनहित में प्राथमिकता के आधार पर आम लोगों को भी सरकारी मूल्यों पर  न्याय संगत रूप से उपलब्ध कराई जानी चाहिए।